HINA 83

परमानंददास (Parmananddas) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

परमानंददास (Parmananddas) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में यह भी बल्लभाचार्य जी के शिष्य और अष्टछाप में थे। ये संवत् 1606 के आसपास वर्तमान थे।...

Continue reading...

मुबारक (Mubarak : The Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

मुबारक (Mubarak : The Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में मुबारक : सैयद मुबारक अली बिलग्रामी का जन्म संवत् 1640 में हुआ था,...

Continue reading...

अब्दुर्रहीम खानखाना : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में (Rahim : hindi poet)

अब्दुर्रहीम खानखाना : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ये (अब्दुर्रहीम खानखाना) अकबर बादशाह के अभिभावक प्रसिद्ध मोगल सरदार बैरम खाँ खानखाना के पुत्र थे। इनका...

Continue reading...

नंददास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

नंददास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में नंददास ‘अष्टछाप के दूसरे श्रेष्ठ कवि हैं। ‘अष्टछाप’ के आठ कवि हैं : सूरदास, कुंभनदास, परमानंददास, कृष्णदास, छीतस्वामी,...

Continue reading...

भिखारीदास (Bhikharidas): आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

भिखारीदास (Bhikharidas): आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में दास (भिखारी दास) : ये प्रतापगढ़ (अवध) के पास टयोंगा गाँव के रहने वाले श्रीवास्तव कायस्थ थे। इन्होंने...

Continue reading...

भिखारादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

भिखारादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में दास (भिखारी दास) : ये प्रतापगढ़ (अवध) के पास टयोंगा गाँव के रहने वाले श्रीवास्तव कायस्थ थे। इन्होंने...

Continue reading...

नामदेव : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

नामदेव आचार्य : रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में महाराष्ट्र देश के प्रसिद्ध भक्त नामदेव (संवत् 1328-1408) ने हिंदू मुसलमान दोनों के लिए एक सामान्य भक्तिमार्ग का...

Continue reading...