AFAQURRAHMAN

बनारसीदास (Banarsidas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

बनारसीदास (Banarsidas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ये जौनपुर के रहनेवाले एक जैन जौहरी थे जो आमेर में भी रहा...

Continue reading...

भक्तिकाल की फुटकल रचनाएँ (Bhaktikaal ki Futkal Rachnayen)

भक्तिकाल की फुटकल रचनाएँ (Bhaktikaal ki Futkal Rachnayen) जिन राजनीतिक और सामाजिक परिस्थितियों के बीच भक्ति का काव्य प्रवाह उमड़ा, उनका संक्षिप्त उल्लेख आरंभ में हो...

Continue reading...

ध्रुवदास (Druvdas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

ध्रुवदास (Druvdas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ये श्री हितहरिवंश जी के शिष्य स्वप्न में हुए थे। इसके अतिरिक्त इनका...

Continue reading...

हरीराम व्यास जी (HARIRAM VYAS : THE HINDI POET) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

हरीराम व्यास जी (HARIRAM VYAS : THE HINDI POET) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में इनका पूरा नाम हरीराम व्यास था और ये ओरछा के...

Continue reading...

सूरदास मदनमोहन (Soordas Madanmohan) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

सूरदास मदनमोहन (Soordas Madanmohan) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ये अकबर के समय में संडीले के अमीन थे। जाति के ब्राह्मण और गौड़ीय संप्रदाय...

Continue reading...

स्वामी हरिदास (Swami Haridas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

स्वामी हरिदास (Swami Haridas : the Hindi poet) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में स्वामी हरिदास वृंदावन में निंबार्क मतांतर्गत टट्टी संप्रदाय के संस्थापक थे...

Continue reading...

मीराबाई (Meerabai : the Hindi poetess) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

मीराबाई (Meerabai : the Hindi poetess) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ये मेड़तिया के राठौर रत्नसिंह की पुत्री, राव दूदाजी की पौत्री और जोधपुर...

Continue reading...

परमानंददास (Parmananddas) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

परमानंददास (Parmananddas) : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में यह भी बल्लभाचार्य जी के शिष्य और अष्टछाप में थे। ये संवत् 1606 के आसपास वर्तमान थे।...

Continue reading...