NTA UGC NET/JRF JUNE-2005 HINDI-2 QUESTIONS & ANSWERS

NTA UGC NET/JRF JUNE-2005 HINDI-2 QUESTIONS & ANSWERS

  1. निम्नलिखित में से कौन पश्चिमी हिन्दी की बोली नहीं है?

(A) बुन्देली (B) ब्रज (C) कन्नौजी (D) बघेली

  1. भारतीय संविधान के किन अनुच्छेदों में राजभाषा-सम्बन्धी प्रावधानों का उल्लेख है?

(A) 343 से 351 तक (B) 434 से 315 तक

(C) 443 से 115 तक (D) 334 से 153 तक

  1. ‘दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा’ का मुख्यालय कहाँ पर स्थित है ?

(A) हैदराबाद (B) बंगलोर (C) चेन्नई (D) मैसूर

  1. निम्नलिखित में कौन-सी ‘सघोष महाप्राण’ ध्वनि है ?

(A) ख (B) घ (C) ज (D) ठ

  1. निम्नलिखित में से कौन-सा ‘पश्च स्वर’ हैं ?

(A) आ (B) इ (C) ई (D) अ

  1. हिन्दी में हिन्दी साहित्य का इतिहास सबसे पहले किसने लिखा ?

(A) ग्रियर्सन (B) शिव सिंह सेंगर (C) गार्सा द तासी (D) रामचन्द्र शुक्ल

  1. ‘हिन्दी साहित्य की भूमिका’ पुस्तक के लेखक कौन हैं ?

(A) रामचन्द्र शुक्ल        (B) राम कुमार वर्मा

(C) विश्वनाथ प्रसाद मिश्र   (D) हज़ारी प्रसाद द्विवेदी

  1. निम्नलिखित में से कौन ‘अष्टछाप’ का कवि है ?

(A) मीराबाई (B) रसखान (C) सूरदास (D) विद्यापति

  1. ‘आनन्द कादम्बिनी’ के सम्पादक कौन थे ?

(A) चौधरी बदरी नारायण प्रेमघन   (B) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(C) शिव प्रसाद सितारे हिन्द      (D) महावीर प्रसाद द्विवेदी

  1. निम्नलिखित में से कौन ‘तार सप्तक’ का कवि है ?

(A) हरि नारायण व्यास (B) श्रीकान्त वर्मा (C) नेमिचन्द जैन (D नरेश मेहता

  1. ‘भाग्यवती’ के लेखक कौन हैं ?

(A) लाला श्रीनिवासदास (B) द्वकीनन्दन खत्री

(C) श्रद्धाराम फिल्लौरी (D) लज्जाराम मेहता

  1. ‘अन्धायुग’ किसकी रचना हैं ?

(A) नरेश मेहता (B) मोहन राकेश (C) दुष्यन्त कुमार (D) धर्मवीर भारती

  1. ‘कुटज’ के लेखक कौन हैं ?

(A) हज़ारी प्रसाद द्विदेदी (B) रामचन्द्र शुक्ल (C) कुबेरनाथ राय (D) विद्यानिवास मिश्र

  1. निम्नलिखित में से कौन रचना अमरकान्त की है ?

(A) अमृतसर आ गया (B) ज़िन्दगी और जोंक (C) टूटना (D) परिन्दे

  1. ‘पहल’ का सम्पादक कौन है ?

(A) राजेन्द्र यादव (B) रविद्र कालिया (C) ज्ञानरंजन (D) विश्वनाथ तिवारी

  1. ‘ध्वन्यालोक’ किसकी कृति है ?

(A) अभिनवगुप्त (B) राजशेखर (C) मम्मट (D) आनन्दवर्धन

  1. ‘उज्ज्वलनीलमणि’ ग्रंथ के लेखक कौन हैं?

(A) रूपगोस्वामी (B) अभिनवगुप्त (C) राजशेखर (D) मम्मट

  1. ‘अभिव्यकित्वाद’ के प्रवर्तक हैं ?

(A) शंकुक (B) अभिनवगुप्त (C) भठ्ट लोल्लट (D) आन्नदवर्धन

  1. ‘अभिव्यंजनावाद’ के प्रवर्तक हैं :

(A)  आई. ए. रिचर्ड्स (B) टी. एस. इलियट (C) क्रोचे (D) लांजाइनस

  1. काव्य में उदात्ततत्व को सर्वाधिक महत्व किसने दिया है?

(A) प्लेटो (B) अरस्तू (C) इलियट (D) लांजाइनस

  1. हिन्दी भाषा का सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) पालि, प्राकृत, अपभ्रंश, हिन्दी

(B) प्राकृत, अपभ्रंश, हिन्दी, पालि

(C) अपभ्रंश, पालि, प्राकृत, हिन्दी

(D) हिन्दी, पालि, अपभ्रंश, प्रा’कृत

  1. हिन्दी-प्रसार के सन्दर्भ में निम्नलिखित प्रमुख संश्थाओं का कालक्रम के अनुसार सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा चेन्नई, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा

(B) नागरी प्रचारिणी सभा काशी, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा चेन्नई, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा

(C) राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा चेन्नई

(D) दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा चेन्नई, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, नागरी प्रचारिणी सभा काशी, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा

  1. निम्नलिखित हिन्दी साहित्य के लेखकों का कालक्रमनुसार सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) रामकुमार वर्मा, रामचन्द्र शुक्ल, मिश्रबन्धु, रामस्वरूप चतुर्वेदी

(B) रामस्वरूप चतुर्वेदी मिश्रबन्धु, रामकुमार वर्मा, रामचन्द्र शुक्ल

(C) रामचन्द्र शुक्ल, मिश्रबन्धु, रामकुमार वर्मा, रामस्वरूप चतुर्वेदी

(D) मिश्रबन्धु, रामचन्द्र शुक्ल, रामकुमार वर्मा, रामस्वरूप ‘चतुर्वेदी

  1. निम्नलिखित पत्रिकाओं के प्रकाशन का सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) धर्मयुग, हंस, सरस्वती, कविवचन सुधा

(B) सरस्वती, कविवचन सुधा, हंस, धर्मयुग

(C) कविवचन सुधा, सरस्वती, हंस, धर्मयुग

(D) हंस, सरस्वती, धर्मयुग, कविवचन सुधा

  1. निम्नलिखित रचनओं का कालक्रमानुसार सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) अंधेर नगरी, अंधायुग, संसद से सड़क तक, मगध

(B) संसद से सड़क तक, अंधेर नगरी, अंधायुग, मगध

(C) मगध, अंधेर नगरी, अंधायुग, संसद से सड़क तक

(D) अंधायुग, अंधेर नगरी, मगध, संसद से सड़क तक

  1. निम्नलिखित उपन्यासों का रचनाकाल की दृष्टि से सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) त्यागपत्र, सेवासदन, मैला आँचल आधा गाँव

(B) आधा गाँव, मैला आँचल, सेवासदन, त्यागपत्र

(C) सेवासदन, त्यागपत्र, आधा गाँव, मैला आँचल

(D) सेवासदन, त्यागपत्र, मैला आँचल, आधा गाँव

  1. निम्नलिखित उपन्यासों का रचनाकाल की दृष्टि से सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) लहरों का राजहंस, सिन्दूर की होली, आठवाँ सर्ग, ध्रुवस्वामिनी

(B) सिन्दूर की होली, ध्रुवस्वामिनी, लहरों का राजहंस, आठवाँ सर्ग

(C) ध्रुवस्वामिनी, सिन्दूर की होली, लहरों का राजहंस, आठवाँ सर्ग

(D) आठवाँ सर्ग, लहरों का राजहंस, ध्रुवस्वामिनी, सिन्दूर की होली

  1. रससूत्र के व्याख्याकारों का सही अनुक्रम क्या है ?

(A) भट्ट लोल्लट, शंकुक, भट्टनायक, अभिनवगुप्त

(B) शंकुक, भट्ट लोल्लट, भट्टनायक, अभिनवगुप्त

(C) अभिनवगुप्त, शंकुक, भट्ट लोल्लट, भट्टनायक

(D) भट्ट लोल्लट, भट्टनायक, शंकुक, अभिनवगुप्त

  1. निम्नलिखित पाश्चातात्य काव्यशास्त्रीय चिन्तकों का कालक्रमानुसार सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) कालरिज, अरस्तू, आई. ए. रिचर्ड्स जान क्रो रैंसम

(B) अरस्तू, कालरिज, जान क्रो रैंसम, आई. ए. रिचर्ड्स

(C) आई. ए. रिचर्ड्स, कालरिज, अरस्तू, जान क्रो रैंसम

(D) अरस्तू, कालरिज, आई. ए. रिचर्ड्स जान क्रो रैंसम

  1. निम्नलिखित काव्यशास्त्रीय ग्रंथों का कालक्रम की दृष्टि से सही अनुक्रम कौन-सा है ?

(A) काव्यानुशासन, साहित्य दर्पण, रसमंजरी, रसगंगाधर

(B) साहित्य दर्पण, काव्यानुशासन, रसगंगाधर, रसमंजरी

(C) रसमंजरी, साहित्य दर्पण, रसगंगाधर, काव्यानुशासन

(D) काव्यानुशासन, साहित्य दर्पण, रसगंगाधर, रसमंजरी

  1. निम्नलिखित वर्णों को उनके ध्वनिगुणों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) क       (A) सघोष महाप्राण

(2) ख       (b) अघोष महाप्राण

(3) ग       (c) सघोष अल्पप्राण

(4) घ       (d) अघओष अल्पप्राण

(e) सघोष अनुवांशिक

कूट : (1)    (2)   (3)   (4)

(A)   (d)   (b)   (c)    (A)

(B)   (A)   (b)   (c)    (d)

(C)   (b)   (c)    (d)   (A)

(D)   (A)   (c)    (d)   (b)

  1. निम्नलिखित हिन्दी के भाषाविदों को उनके ग्रन्थों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) कामताप्रसाद गुरु       (A) हिन्दी भाषा का उदभव और विकास

(2) किशोरी दास वाजपेयी   (b) हिन्दी व्याकरण

(3) उदय नारायण तिवारी   (c) भाषा और समाज

(4) रामविलास शर्मा        (d) हिन्दी शब्दानुशासन

कूट :  (1)   (2)   (3)   (4)

(A)   (A)   (b)   (c)    (d)

(B)   (b)   (d)   (A)   (c)

(C)   (b)   (A)   (c)    (d)

(D)   (d)   (b)   (A)   (c)

  1. निम्नलिखित काव्य-ग्रंथों को उनके कवियों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) आत्मजयी            (a) गिरिजा कुमार माथुर

(2) धरती                (b) कुँवर नारायण

(3) आँगन के पार द्वार    (c) अज्ञेय

(4) धूप के धान           (d) त्रिलोचन  (e) रघुवीर सहाय

a     b     c     d

(A)   (A)   (b)   (c)    (d)

(B)   (b)   (A)   (c)    (d)

(C)   (b)   (d)   (c)    (A)

(D)   (e)   (A)   (b)   (c)

  1. निम्नलिखित ग्रंथों को उनके लेखकों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) शुद्ध कविता की खोज        (A) अज्ञेय

(2) आत्मनेपद                        (b) मुक्तिबोध

(3) एक साहित्यिक की डायरी            (c) हज़ारी प्रसाद द्विदेदी

(4) हिन्दी साहित्य की भूमिका     (d) दिनकर   (e) रामचन्द्र शुक्ल

कूट : (1)    (2)   (3)   (4)

(A)   (A)   (b)   (c)    (d)

(B)   (e)   (A)   (b)   (c)

(C)   (e)   (b)   (A)   (c)

(D)   (d)   (A)   (b)   (c)

  1. निम्नलिखित काव्य-पंक्तियों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) ये उपमान मैले हो गए हैं                  (A) अज्ञेय

(2) हम राज्य के लिए मरते हैं           (b) बिहारी लाल

(3) बतरस लालच लाल की              (c) मैथिली शरण गुप्त

(4) भक्तिहिं ज्ञानहिं नहिं कछु भेदा       (d) तुलसीदास      (e) पन्त

कूट : (1)    (2)   (3)   (4)

(A)   (e)   (A)   (b)   (c)

(B)   (A)   (c)    (b)   (d)

(C)   (A)   (b)   (c)    (d)

(D)   (d)   (e)   (A)   (b)

  1. निम्नलिखित काव्य-पंक्तियों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) वैर क्रोध का अचार या मुरब्बा है                  (A) प्रेमचन्द

(2) अधिकार सुख कितना मादक और सारहीन    (b) प्रसाद

(3) निज भाषा उन्नति अहै सब उन्नति को मूल  (c) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(4) मर्द साठे पर पाठे होते हैं                  (d) राचन्द्र शुक्ल (e) हज़ारी प्रसाद द्विवेदी

कूट : (1)    (2)   (3)   (4)

(A)   (A)   (b)   (c)    (d)

(B)   (e)   (A)   (b)   (c)

(C)   (d)   (b)   (c)    (A)

(D)   (A)   (d)   (e)   (c)

  1. निम्नलिखित पत्रिकाओं को उनके सम्पादकों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) हिन्दी प्रदीप     (A) राजेन्द्र यादव

(2) ब्राह्मण        (b) कमला प्रसाद

(3) सरस्वती        (c) बालकृष्ण भट्ट

(4) वसुधा          (d) प्रताप नारायण मिश्र (e) महावीर प्रसाद द्विवेदी

कूट : (1)    (2)   (3)   (4)

(A)   (c)    (d)   (e)   (b)

(B)   (A)   (b)   (c)    (d)

(C)   (A)   (c)    (b)   (d)

(D)   (d)   (b)   (c)    (A)

  1. निम्नलिखित ग्रंथों को उनके काव्य:पों के साथ सुमेलित कीजिए :

(1) पंचवटी               (A) महाकाव्य

(2) प्रिय प्रवास            (b) काव्यनाटक

(3) एक कण्ठ विषपायी     (c) खण्ड काव्य

(4) शिवा बावनी           (d) मुक्तक (e) चम्पू

कूट :  (1)   (2)   (3)   (4)

(A)   (e)   (d)   (A)   (b)

(B)   (A)   (b)   (c)    (d)

(C)   (c)    (A)   (b)   (d)

(D)   (b)   (c)    (A)   (d)

  1. रससूत्र के व्याख्याताओं को उनके सिद्धान्तों के साथ सुमेलित कीजिए 😕

(1) भट्ट लोल्लट    (A) अभिव्यक्तिवाद

(2) शंकुक          (b) भुक्तिवाद

(3) भट्ट नायक     (c) अनुमितिवाद

(4) अभिनवगुप्त    (d) उत्पत्तिवाद (e) व्यक्ति वैचित्र्यवाद

कूट :  (1)   (2)   (3)   (4)

(A)   (e)   (A)   (b)   (d)

(B)   (d)   (c)    (b)   (A)

(C)   (A)   (b)   (c)    (d)

(D)   (b)   (c)    (d)   (A)

  1. निम्नलिखित पाश्चात्य साहित्य-चिन्तकों को उनके सिद्धान्तों के साथ सुमेलित कीजिए:

(1) ज्याँ पाल सात्र   (A) अभिव्यंदनावाद

(2) ज्याक दरिदा    (b) अस्तित्ववाद

(3) टी. एस. इलियट (c) विखंडवाद

(4) क्रोचे           (d) निर्वैयक्तिकता (e) मार्क्सवाद

कूट :  (1)   (2)   (3)   (4)

(A)   (A)   (b)   (c)    (d)

(B)   (e)   (A)   (b)   (d)

(C)   (e)   (b)   (d)   (A)

(D)   (b)   (c)    (d)   (A)

निर्देश : प्रश्न संख्या 41 से 45 तक दी गई स्थापनाओं (Assertion) तर्कों (Reason) को ध्यानपूर्वक पढ़ें और  बहुविकल्पी उत्तरों में से सही उत्तर का चयन करें।

  1. स्थापना (Assertion) (A) : नाद सौन्दर्य से कविता की आयु बढ़ती है।

तर्क (Reason) (R) : नाद का सम्बन्ध छ्द से होता है। इसलिए जो लोग छन्द कीपरवाह करते हैं उनकी कविता की आयु अधिक हो जाती है।

(A) (A) और (R) दोनों सही है।

(B) (A) और (R) दोनों ग़लत है।

(C) (A) सही और (R) ग़लत है।

(D) (A) ग़लत और (R) सही है।

  1. स्थापना (Assertion) (A) : भाषा एक सामाजिक सम्पत्ति है।

तर्क (Reason) (R) : भाषा-विहीन समाज की कल्पना सम्भव नहीं है।

(A) (A) और (R) दोनों सही है।

(B) (A) और (R) दोनों ग़लत है।

(C) (A) सही और (R) ग़लत है।

(D) (A) ग़लत और (R) सही है।

  1. स्थापना (Assertion) (A) : आधुनिक हिन्दी आलोचना पर पश्चिम के साहित्य-चिन्तन का गहरा प्रभाव है।

तर्क (Reason) (R) : हिन्दी के प्रमुख समीक्षक पाश्चात्य साहित्य-चिन्तन से प्रभवित नहीं हैं।

(A)  (A) और (R) दोनों सही है।

(B) (A) और (R) दोनों ग़लत है।

(C) (A) सही और (R) ग़लत है।

(D) (A) ग़लत और (R) सही है।

  1. स्थापना (Assertion) (A) : नई कविता में छायावाद का प्रभाव एकदम नहीं है।

तर्क (Reason) (R) : नई कविता पूर्णतः पश्चिमी प्रभाव में जन्मी है।

(A)  (A) और (R) दोनों सही है।

(B)  (A) और (R) दोनों ग़लत है।

(C) (A) सही और (R) ग़लत है।

(D) (A) ग़लत और (R) सही है।

  1. स्थापना (Assertion) (A) : दलित चेतना की प्रमाणिक अभिव्यक्त दलित दलित रचनाकारों द्वारा ही हो सकती है।

तर्क (Reason) (R) : दलित जीवन का वास्तविक अमुभव केवल दलितों को ही होता है।

(A)  (A) और (R) दोनों सही है।

(B)  (A) और (R) दोनों ग़लत है।

(C) (A) सही और (R) ग़लत है।

(D) (A) ग़लत और (R) सही है।

निम्नलिखित गद्य अवतरण को ध्यानपूर्वक पढ़ें और उससे सम्बन्धित प्रश्नों (पेरश्न संख्या 46 से 50 तक) के उत्तरों के दिए गए बहुविकल्पों में से से सही विकल्प का चयन करें।

कवि-वाणी के प्रसार से हम संसार के सुख-दुःख आनन्द-क्लेश आदि का शुद्ध स्वार्थमुक्त :प में अनुभव करते हैं। इस प्रकार के अनुभव के अभ्यास से हृदय का बन्धन खुलता है और मनुष्यता को उच्च भूमि की प्राप्ति होती है। किसी अर्थपिशाच कृपण को देखिए। जिसने केवल अर्थलोभ के वशीभूत होकर क्रोध, दया, श्रद्धा भक्त, आत्माभिमान आदि भावों को एकदम दबा दिया है और संसार के मार्मिक पक्ष से मुँह मोड़ लिया है। न सृष्टि के किसी :प माधुर्य को देख वह पैसों का हिसाब-किताब भूल कभी मुग्ध होता है, न किसी दीन-दुखियों को देख कभी करुणा से द्रवीभूत होता है, न कोई अपमानसूचक बात सुनकर क्रुद्ध या क्षुब्ध होता है। यदि उससे किसी लोमहर्षक अत्याचार की बाज कही जाय तो वह मनुष्य धर्मानुसार क्रोध या घृणा प्रकट करने के स्थान पर रुखाई के साथ कहेगा, ”जाने दो, हमें क्या मतलब, चलो अपना काम देखें।” यह महा भयानक मानसिक रोग है। इससे मनुष्य आदा मर जाता है।

  1. कविता मनुष्य के हृदय को उदार बनाती है। ?

(A) यह कथन सत्य है।

(B) यह कथन ग़लत है।

(C) यह कथन अंशतः सत्य है।

(D) यह कथन अंशतः ग़लत है।

  1. लोभी व्यक्ति का भाव-जगत् संकुचित हो जाता है।

(A) यह कथन ग़लत है।

(B) यह कथन सत्य है।

(C) यह कथन अंशतः सत्य है।

(D) यह कथन अंशतःग़लत है।

  1. अत्याचार की बात सुनकर क्या करना चाहिए ?

(A) उदासीन रहना चाहिए।

(B) दूर जाना चाहिए।

(C) उसका सक्रिय विरोध करना चाहिए।

(D) दूसरे का ध्यान उधर आकर्षित करना चाहिए।

  1. उदासीनता किस प्रकार का रोग है ?

(A) स्थायी रोग है।

(B) अस्थायी रोग है।

(C) शारीरिक रोग है।

(D) मानसिक रोग है।

  1. कवि-वाणी से जीवन-निर्वाह करना कहाँ तक सम्भव है?

(A) कुछ लोगों के लिए सम्भव है।

(B) सभी लोगों के लिए सम्भव है।

(C) सभी लोगों के लिए कुछ दिन के लिए सम्भव है।

(D) सभी लोगों के लिए शानदार जीवन-निर्वाह के लिए सम्भव है।

 

J-2005, HINDI-2 ANS KEY

  1. (D) बघेली (पश्चिमी हिन्दी में कौरवी, ब्रज, हरियाणी, बुन्देली और कन्नौजी बोलियों की गणना होती है। पश्चिमी हिन्दी का विकास शौरसेनी अपभ्रंश से हुआ। अवधी, बघेली और छत्तीसगढ़ी पूरबी हिन्दी की बोलियाँ हैं।) 2. (A) 343 से 351 तक 3. (C) चेन्नई 4. (B) घ 5. (A) आ 6. (B) शिव सिंह सेंगर 7. (D) हज़ारी प्रसाद द्विवेदी 8. (D) विद्यापति 9. (A) चौधरी बदरी नारायण प्रेमघन 10. (C) नेमिचन्द जैन (तार सप्तक’ के कवि : गजानन माधव मुक्तिबोध, नेमिचन्द्र जैन, भारत भूषण अग्रवाल, प्रभाकर माचवे, गिरिजाकुमार माथुर, रामविलास शर्मा, अज्ञेय) 11. (C) श्रद्धाराम फिल्लौरी  12. (D) धर्मवीर भारती 13. (A) हज़ारी प्रसाद द्विदेदी 14. (B) ज़िन्दगी और जोंक 15. (C) ज्ञानरंजन 16. (D) आनन्दवर्धन 17. (A) रूपगोस्वामी 18. (B) अभिनवगुप्त 19. (C) क्रोचे 20. (D) लांजाइनस 21. (A) पालि, प्राकृत, अपभ्रंश, हिन्दी 22. (B) नागरी प्रचारिणी सभा काशी, हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग, दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा चेन्नई, राष्ट्र भाषा प्रचार समिति वर्धा 23. (D) मिश्रबन्धु, रामचन्द्र शुक्ल, रामकुमार वर्मा, रामस्र्व:प चतुर्वेदी 24. (C) कविवचन सुधा, सरस्वती, हंस, धर्मयुग 25. (A) अंधेर नगरी, अंधायुग, संसद से सड़क तक, मगध 26. (D) सेवासदन, त्यागपत्र, मैला आँचल, आधा गाँव 27. (C) ध्रुवस्वामिनी, सिन्दूर की होली, लहरों का राजहंस, आठवाँ सर्ग 28. (A) भट्ट लोल्लट, शंकुक, भट्टनायक, अभिनवगुप्त 29. (D) अरस्तू, कालरिज, आई. ए. रिचर्ड्स जान क्रो रैंसम 30. (B) संस्कृत-काव्यशास्त्री और उनकी रचनाएँ (कालक्रमानुसार) : 1. आचार्य भरत (2री शती ई॰ पूर्व से 2री शती ई॰ पू॰), रचना : नाट्यशास्त्र (नाट्यविधानों का अमर विश्वकोश) 2. भामह (छठी शती का मध्यकाल), रचना : काव्यालंकार 3. दण्डी (7वीं शती का उत्तरार्द्ध), रचनाएँ : काव्यदर्श (काव्यशास्त्र विषयक) दशकुमारचरित, अवन्तिसुन्दरी (गद्यकाव्य) 4. वामन (8वीं-9वीं शती के बीच), रचना : काव्यालंकारसूत्रवृत्ति 5. उद्भट (9वीं शती का पूर्वार्द्ध), रचनाएँ : काव्यालंकारसारसंग्रह,भामह-विवरण, कुमारसम्भव 6. रुद्रट (9वीं शती का आरम्भ), रचना : काव्यालंकार 7. आनन्दवर्धन (9वीं शती का मध्य भाग), रचना : ध्वन्यालोक 8. रुद्र भट्ट (10वीं शती), रचना : काव्यालंकार 9. राजशेखर (880-920 के बीच), रचनाएँ : काव्यमीमांसा, बालरामायण, कर्पूरमंजरी (प्राकृत) 10. मुकुल भट्ट (9वीं-10वीं शती), रचना : अभिधावृत्तिमातृका 11. धनंजय (10वीं शती), रचना : दशरूपक (नाट्यशास्त्र पर टीका) 12. अभिनवगुप्त (10वीं-11वी शती), रचना : ध्वन्यालोक की टीका‘लोचन’ और नाट्यशास्त्र की टीका ‘अभिनवभारती’13. कुन्तक (10वीं-11वीं शती), रचना : वक्रोक्तिजीवित 14. सागरनन्दी (11वीं शती का आरम्भ), रचना : नाटकलक्षणरत्नकोश 15. भोजराज (11वीं शती का पूर्वार्द्ध), रचनाएँ : सरस्वती कण्ठाभरण, श्रृंगारप्रकाश 16. महिम भट्ट (11वीं शती का मध्य काल), रचना : व्यक्तिविवेक 17. क्षेमेन्द्र (ग्यारहवीं शताब्दी का उत्तरार्द्ध), रचनाएँ : औचित्यविचारचर्चा, सुवृत्ततिलक, कविकंठाभरण 18. मम्मट (11वीं शताब्दी का उत्तरार्द्ध), रचना : काव्यप्रकाश 19. हेमचन्द्र (12वीं शती), रचना : काव्यानुशासन 20. रामचन्द्र-गुणचन्द्र (12वीं शती का पूर्वार्द्ध), रचना : नाट्यदर्पण 21. वाग्भट्ट प्रथम (12वीं शती का पूर्वार्द्ध), रचना : वाग्भटालंकार 22. रूय्यक (12वीं शती का मध्य भाग), रचना : अलंकारसर्वस्व 23. अमरचन्द्र (13वीं शती का मध्य भाग), रचना : काव्यकल्पलतावृत्ति 24. जयदेव (13वीं शती का मध्य भाग), रचना : चन्द्रालोचक  25. शारदातनय (13वीं शती का मध्य भाग), रचना : भावप्रकश 26. विद्याधर (13वीं-14वीं शती), रचना : एकावली 27. विद्यानाथ (13वीं-14वीं शती), रचना : प्रतापरुद्रयशोभूषण 28. भानुमिश्र (13वीं-14वीं शती), रचना : रसतरिगिणी, रसमंजरी 29. विश्वनाथ (14वीं शती), रचना : साहित्यदर्पण 30. केशव मिश्र (14वीं शती), रचना : अलंकारशेखर, तर्कभाष्य 31. रूपगोस्वामी (14वीं-15वीं शती), रचना : उज्ज्वलनीलमणि  32. अप्पयदीक्षित (16वीं-17वीं शती), रचना : कुवलयानन्द, वृत्तिवार्तिक, चित्रमीमांसा 33. पंडितराज जगन्नाथ (16वीं-17वीं शती), रचना : रसगंगाधर 34. अकबरशाह (17वीं शती का मध्य भाग) रचना : श्रृंगारमंजरी । 31. (A)  क (अघोष अल्पप्राण), ख (अघोष महाप्राण), ग (सघोष अल्पप्राण), घ (सघोष महाप्राण) अल्पप्राण : जिन वर्णों के उच्चारण में मुख से श्वास अल्प मात्रा में निकलती है और हकार की ध्वनि सुनाई नहीं पड़ती है, उन्हें अल्पप्राण व्यंजन कहते हैं। प्रत्येक वर्ग का प्रथम, तृतीय और पंचम वर्ण (क ग ड., च ज ञ, ट ड ण त द न प ब म) तथा य र ल व अल्पप्राण व्यंजन हैं। महाप्राण : जिन वर्णों के उच्चारण में हकार की ध्वनि सुनाई पड़ती है और मुख से श्वास अधिक मात्रा में निकलती है, उन्हें महाप्राण व्यंजन कहते हैं। प्रत्येक वर्ग का दूसरा और चौथा वर्ण और समस्त ऊष्म वर्ण (ख घ छ झ ठ ढ फ भ और श स ष ह) महाप्राण व्यंजन हैं। घोष-अघोष : जिन वर्णों के उच्चारण में स्वरतंत्रियाँ झंकृत होती हैं वे घोष और जिनमें ऐसी झंकृति उत्पन्न नहीं होती वे अघोष कहलाते हैं। घोष : सारे स्वर वर्ण, प्रत्येक व्रण के तीसरे, चौथे और पाँचवें वर्ण (अ आ इ ई उ ऊ ऋ, ए ऐ ओ औ ग घ ड. ज झ ञ ड ढ ण द ध न ब भ म और य र ल व एवं ह) को घोष वर्ण कहते हैं। अघोष : प्रत्येक वर्ण के प्रथम और द्वितीय वर्ण (क ख च छ ट ठ त थ प फ तथा श स ष) अघोष वर्ण हैं। 32. (4) कामताप्रसाद गुरु (हिन्दी व्याकरण)      किशोरी दास वाजपेयी (हिन्दी शब्दानुशासन), उदय नारायण तिवारी (हिन्दी भाषा का उदभव और विकास), रामविलास शर्मा (भाषा और समाज) 33. (C) आत्मजयी (कुँवर नारायण), धरती (त्रिलोचन), आँगन के पार द्वार (अज्ञेय), धूप के धान (गिरिजा कुमार माथुर) 34. (D) शुद्ध कविता की खोज (दिनकर), आत्मनेपद (अज्ञेय), एक साहित्यिक की डायरी (मुक्तिबोध) हिन्दी साहित्य की भूमिका (हज़ारी प्रसाद द्विदेदी)   35. (B) ये उपमान मैले हो गए हैं (अज्ञेय), हम राज्य के लिए मरते हैं (मैथिली शरण गुप्त), बतरस लालच लाल की (बिहारी लाल), भक्तिहिं ज्ञानहिं नहिं कछु भेदा (तुलसीदास) 36. (C) वैर क्रोध का अचार या मुरब्बा है (राचन्द्र शुक्ल), अधिकार सुख कितना मादक और सारहीन    (प्रसाद), निज भाषा उन्नति अहै सब उन्नति को मूल (भारतेन्दु हरिश्चन्द्र), मर्द साठे पर पाठे होते हैं (प्रेमचन्द) 37. (A) हिन्दी प्रदीप (बालकृष्ण भट्ट), ब्राह्मण (प्रताप नारायण मिश्र), सरस्वती (महावीर प्रसाद द्विवेदी), वसुधा (कमला प्रसाद) 38. (C) पंचवटी (खण्ड काव्य), प्रिय प्रवास (महाकाव्य), एक कण्ठ विषपायी (काव्यनाटक), शिवा बावनी (मुक्तक)  39. (B) भट्ट लोल्लट (उत्पत्तिवाद), शंकुक (अनुमितिवाद), भट्ट नायक (भुक्तिवाद), अभिनवगुप्त (अभिव्यक्तिवाद) 40. (D) ज्याँ पाल सात्र (अस्तित्ववाद), ज्याक दरिदा (विखंडवाद) टी. एस. इलियट (निर्वैयक्तिकता), क्रोचे (अभिव्यंदनावाद) 41. (C) (A) सही और (R) ग़लत है। 42. (A) (A) और (R) दोनों सही है। 43. (C) (A) सही और (R) ग़लत है। 44. (D) (A) ग़लत और (R) सही है। 45. (C) (A) सही और (R) ग़लत है। 46. (A) यह कथन सत्य है। 47. (B) यह कथन सत्य है। 48. (C) उसका सक्रिय विरोध करना चाहिए। 49. (D) मानसिक रोग है। 50. (A) कुछ लोगों के लिए सम्भव है।