जयशंकर प्रसाद और उनकी रचनाओं पर पूछे गए प्रश्न-5

जयशंकर प्रसाद और उनकी रचनाओं पर पूछे गए प्रश्न-5

 

1. #रचनाकाल की दृष्टि से निम्नलिखित एकांककियों का सही अनुक्रम है

(A) कारवाँ, एकादशी, नदी प्यासी थी, एक घूँट

(B) #एक घूँट, कारवाँ, नदी प्यासी थी, एकादशी 

(C) एकादशी, नदी प्यासी थी, एक घूँट, कारवाँ

(D) नदी प्यासी थी, एक घूँट, कारवाँ, एकादशी

उत्तर : (B) #एक घूँट (1929 ई.), कारवाँ (1935 ई.), नदी प्यासी थी (1954 ई.), एकादशी 

 

  1. ‘#सुधि मेरे आगम की जग में

सुख की सिहसरन हो अंत खिली।

उपर्युक्त पंक्तियाँ किस कवि की हैं ?

(1) मैथिलीशरण गुप्त (2) महादेवी वर्मा (3) जयशंकर प्रसाद (4) राहुल सांकृत्यायन

उत्तर : (2) महादेवी वर्मा

 

3. #जयशंकर प्रसाद के काव्य ग्रंथों का प्रकाशन वर्ष के अनुसार सही अनुक्रम है :

(1) आँसू, झरना, प्रेमपथिक, लहर

(2) प्रेमपथिक, झरना, आँसू, लहर

(3) झरना, लहर, आँसू, प्रेमपथिक

(4) प्रेमपथिक, लहर, झरना, आँसू

उत्तर : (2) प्रेमपथिक (1913 .), झरना (1918 .), आँसू (1925 .), लहर (1933 .)

 

4. #निम्नलिखित पंक्तियों को उनके कवियों के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूचीI                  सूचीII

(A) #वैश्यो! सुनो व्यापार सारा मिट चुका है देश का

सब धन विदेशी हर रहे हैं पार क्या क्लेश का?                            (i) जयशंकर प्रसाद

(B) #तुम भूल गए पुरुषत्व मोह में, कुछ सत्ता है नारी की।

समरसता है है संबंध बनी अधिकार और अधिकार की।              (ii) पंत

(C) #प्रथम रष्मि आना रागिणी! तू ने üसे पहचाना?

कहाँकहाँ हे बाल विहंगिनी? पाया तूने यह गाना?            (iii) महादेवी वर्मा

(D) #क्या अमारों का लोक मिलेगा तेरी करुणा का उपहार?

रहने दो हे देव! अरे यह मेरा मिटने का अधिकार!              (iv) निराला (v) मैथिलीशरण गुप्त

कूट :

          (A) (B) (C) (D)

(1)     (iii) (iv) (i) (v)

(2)     (i) (ii) (iii) (iv)

(3)     (iii) (v) (i) (ii)

(4)     (v) (i) (ii) (iii)

उत्तर : 4. (A) (iii) (iv) (i) (v)

 

5. #जयशंकर प्रसाद कृत उर्वशी किस विधा रचना है?

(A) गीतिकाव्य (B) प्रगीत (C) नाटक (D) #चम्पूकाव्य

ANS : (D) #चम्पूकाव्य

 

6. ‘#यथार्थवाद और छायावाद निबन्ध के रचयिता हैं :

(A) #जयशंकर प्रसाद (B) शान्तिप्रिय द्विवेदी  (C) नन्ददुलारे वाजपेयी (D) मुकुटधर पांडेय

ANS : (A) #जयशंकर प्रसाद

  

7. #निम्नलिखित संवाद पंक्तियों को उनके नाटकों के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूची            सूचीII

(A) #मैंने भावना में भावना का वरण किया है।                  (i) चन्द्रगुप्त

(B) #अधिकार सुख कितना मादक और सारहीन है।        (ii) लहरों का राजहंस

(C) #समझदारी आने पर यौवन चला जाता है, जब तक माला गूंथी जाती है, फूल कुम्हला जाते हैं।                                                                                  (iii) आषाढ़ का एक दिन

(D) #नारी का आकर्षण पुरुष को पुरुष बनाता है और उसका अपकर्षण उसे गौतम बुद्ध।                                                                     (iv) कोमल गांधार (v) स्कन्दगुप्त

कूट :

          (a) (b) (c) (d)

(1)     (ii) (iii) (v) (i)

(2)     (iii) (v) (i) (ii)

(3)     (iii) (v) (ii) (i)

(4)     (iv) (iii) (ii) (i)

ANS : (3)    (iii) (v) (ii) (i)

 

8. ‘#बीती विभावरी जाग री।

अम्बर पनघट में डुबो रही, ताराघट उषानागरी।उपर्युक्त पंक्तियाँ जयशंकर प्रसाद के किस काव्यसंग्रह में संकलित हैं?

(1) प्रेम पथिक (2) झरना (3) कानन कुसुम  (4) लहर

ANS : (3) (3) कानन कुसुम 

 

9. निम्नलिखित #कहानीसंग्रहों का प्रकाशनवर्ष के अनुसार सही अनुक्रम है:

(1) पुष्पलता, छाया, चित्रशाला (भाग-1), चिनगारियाँ

(2) चित्रशाला (भाग-1), पुष्पलता, छाया, चिनगारियाँ

(3) चिनगारियाँ, चित्रशाला (भाग-1), छाया, पुष्पलता,

(4) छाया, पुष्पलता, चित्रशाला (भाग-1), चिनगारियाँ

ANS : (4) छाया (1914 ., प्रसाद), पुष्पलता (सुदर्शन), चित्रशाला (भाग-1, कौशिक), चिनगारियाँ (1923 ., उग्र)

 

10. #प्रसाद की काव्यकृतियों का सही अनुक्रम है :

(1) लहर, आँसू, उर्वशी, झरना 

(2) आँसू, झरना, उर्वशी, लहर,

(3) उर्वशी, झरना, आँसू, लहर

(4) झरना, उर्वशी, आँसू, लहर

ANS : (3) #उर्वशी (1909 .), #झरना (1918 .), #आँसू (1925 .), #लहर (1933 .)

 

  1. निम्नलिखित पात्रों को लम्बद्ध काव्यकृतियों के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूचीI                    सूचीII

(1) #कर्ण             (i) उर्वशी

(2) #कमला         (ii) यशोधरा

(3) #औशीनरी     (iii) रश्मिरथी

(4) #राहुल           (iv) प्रलय की छाया (v) कामायनी

कोड :

(a)     (b)     (c)      (d)

(1)     (i)      (ii)     (iii)    (iv)

(2)     (iv)    (v)     (ii)     (iii)

(3)     (iii)    (iv)    (i)      (ii)

(4)     (ii)     (iii)    (v)     (i)

ANS :  (3)   (iii)    (iv)    (i)      (ii)

 

  1.  निम्नलिखित कहानियों को उनसे सम्बद्ध पात्रों के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूचीI                    सूचीII

  • #आकाशदीप (i) सुनन्दा
  • #दिल्ली में एक मौत      (ii) मालवी
  • #उसने कहा था (iii) बुद्धगुप्त
  • #गैंग्रीन (iv) आतुल (v) बोधासिंह

कोड :

(a)     (b)     (c)      (d)

(1)     (iii)    (iv)    (v)     (ii)

(2)     (iv)    (ii)     (iii)    (i)

(3)     (ii)     (iii)    (iv)    (v)

(4)     (iv)    (i)      (ii)     (iii)

 ANS : (1)   (iii)    (iv)    (v)     (ii)

 

13. निम्नलिखित रचनाओं को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

सूचीI                   सूचीII

 (A) #भारत दुर्दशा (i)  ज्वाला प्रसाद मिश्र

(B) #मयंक मंजरी  (ii) जयशंकर प्रसाद

(C) #रुक्मिणी परिणय     (iii) भारतेन्दु हरिश्चन्द

(D) #सीता बनवास          (iv) किशोरी लाल गोस्वामी (v) अयोध्यासिंह उपाध्याय हरिऔध

कोड :

          (a)     (b)     (c)      (d)

(1)     (ii)     (v)     (iii)    (i)

(2)     (iii)    (iv)    (v)     (i)

(3)     (ii)     (iii)    (i)      (iv)

(4)     (v)     (i)      (ii)     (iii)

ANS : (2)    (iii)    (iv)    (v)     (i)

  

14. #निम्नलिखित पात्रों को संबंधित रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए :

   सूची-I                          सूची-II

(a) #आकुलि किलात       (i) रश्मिरथी

(b) #अश्वसेन                   (ii) उर्वशी

(c) #यूयूत्सु                      (iii) कामायनी

(d) #औशीनरी                (iv) वैदेही बनवास (v) अंधायुग

कूट :

          (a) (b) (c) (d)

(1)     (i) (ii) (iii) (v)

(2)     (iii) (iii) (iv) (ii)

(3)     (iii) (i) (v) (ii)

(4)     (iv) (v) (ii) (iii)

ANS : (3)    (iii) (i) (v) (ii)

 

15. ‘‘#दुख ही जीवन की कथा रही

क्या कहूँ आज जो नहीं  कही।’’ यह कथन किस कवि का है?

(1) प्रसाद     (2) मुक्तिबोध        (3) निराला   (4) पंत

ANS : (3) निराला

 

15. #प्रकाशनवर्ष की दृष्टि से निम्नलिखित कृतियों का सही अनुक्रम है :

(1) नीहार, आँसू, अनामिका, ग्रंथि

(2) आँसू, अनामिका, ग्रंथि, नीहार

(3) अनामिका, ग्रंथि, नीहार, आँसू

(4) ग्रंथि, अनामिका, आँसू, नीहार

ANS : (4) ग्रंथि (21920लई.), अनामिका (1923 .), आँसू (1925 .), नीहार (1930 .)

 

16. #निम्नलिखित पात्रों को संबंधित रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूची-I                             सूची-II

(a) #आकुलि किलात                (i) रश्मिरथी

(b) #अश्वसेन                   (ii) उर्वशी

(c) #यूयूत्सु                      (iii) कामायनी

(d) #औशीनरी                (iv) वैदेही बनवास (v) अंधायुग

कूट :

          (a) (b) (c) (d)

(1)     (i) (ii) (iii) (v)

(2)     (iii) (iii) (iv) (ii)

(3)     (iii) (i) (v) (ii)

(4)     (iv) (v) (ii) (iii)

ANS : (3) (iii) (i) (v) (ii)

 

17. निम्नलिखित में से किस नाटक का प्रच्छन्न नायक गौतम बुद्ध हैं?

(1) अज्ञातशत्रु (2) विक्रमादित्य (3) लहरों के राजहंस (4) दशाश्वमेध

ANS :(3) लहरों के राजहंस

 

  1. ‘‘छोड़ द्रुमों की मृदु छाया

    तोड़ प्रकृति से भी माया

    बोले! तेरे बालजाल में üसे उलझा दूँ लोचन?’’

 (1) रामनरेश त्रिपाठी (2) जयशंकर प्रसाद (3) सुमित्रानंदन पंत (4) सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

ANS ; (3) सुमित्रानंदन पंत

 

19. जयशंकर प्रसाद की निम्नलिखित काव्यकृतियों का सही अनुक्रम है:

(1) कानन कुसुम, आँसू, झरना, लहर 

(2) आँसू, कानन कुसुम, झरना, लहर

(3) झरना, लहर, आँसू, कानन कुसुम

(4) कानन कुसुम, झरना, आँसू, लहर

(4) कानन कुसुम, झरना, आँसू, लहर

(4) कानन कुसुम (1913 .), झरना (1918 .), आँसू (1925 .), लहर (1933 .)

 

  1. #नीलोत्पल के बीच समाए मोती से आँसू के बूँद।उक्त काव्यांश के लिए कौनसे सही हैं?

(a) इसमें अलंकार ध्वनि है।       (b) यह रस ध्वनि का उदाहरण है।

(c) इसमें तिरस्कृत वाच्य ध्वनि है।       (d) यह लक्षण लक्षणा पर आधारित है।

कोड :

(1) (a) और (b) सही        (2) (c) और (d) सही

(3) (b) और (c) सही        (4) (a) और (d) सही

ANS : (4) (a) और (d) सही

 

  1. प्रकाशनकाल के आधार पर निम्नलिखित #रचनाओं का सही अनुक्रम है :

(1) उर्वशी, कनुप्रिया, कामायनी, यशोधरा

(2) यशोधरा, कामायनी, कनुप्रिया, उर्वशी

(3) यशोधरा, उर्वशी, कामायनी, कनुप्रिया

(4) कामायनी, यशोधरा, कनुप्रिया, उर्वशी

ANS : (2) #यशोधरा (1932 .), कामायनी (1936 .), कनुप्रिया (1959 .), उर्वशी (1961 .)

 

  1. प्रकाशनवर्ष के अनुसार निम्नलिखित #कविताओं का सही अनुक्रम है :

(1) मधुबाला, प्रलय की छाया, पटकथा, असाध्य वीणा

(2) पटकथा, असाध्य वीणा, मधुबाला, प्रलय की छाया

(3) प्रलय की छाया, मधुबाला, असाध्य वीणा, पटकथा

(4) प्रलय की छाया, पटकथा, मधुबाला, असाध्य वीणा

ANS : (4) #प्रलय की छाया  (1933 .), मधुबाला  (1936 .), असाध्य वीणा  (1961 .), पटकथा  (1972 .)

 

  1. प्रकाशनवर्ष की दृष्टि से #नन्ददुलारे वाजपेयी की आलोचनात्मक कृतियों का सही अनुक्रम है :

(1) नई कविता, जयशंकर प्रसाद, कवि निराला, आधुनिक साहित्य

(2) जयशंकर प्रसाद, आधुनिक साहित्य, कवि निराला, नई कविता

(3) कवि निराला, नई कविता, जयशंकर प्रसाद, आधुनिक साहित्य

(4) जयशंकर प्रसाद, कवि निराला, नई कविता, आधुनिक साहित्य

ANS : (2) #जयशंकर प्रसाद (1940), आधुनिक साहित्य (1950), कवि निराला (1965), नई कविता (1976)

 

  1. निम्नलिखित #काव्यपंक्तयों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

          सूचीI                    सूचीII

  • #दुःख ही जीवन की कथा रही

क्या कहूँ आज जो नहीं कही     (i) अज्ञेय

  • #मैं दिन को ढूंढ रही हूँ

जुगनू की उजियाली में।  

मन माँग रहा है मेरा

सिकता हीरक प्याली में (ii) पन्त

  • #रोज़ सवेरे थोड़ासा मैं अतीत में जी लेता हूँ

क्योंकि रोज़ शाम को मैं थोड़ासा भविष्य में मर  जाता हूँ   (iii) महादेवी

  • #बिखरी अलकें ज्यों तर्क जाल

वह विश्व मुकुटसा उज्ज्वलतम शशिखंड

सदृश्य था स्पष्ट भाल                           (iv) निराला (v) प्रसाद

कोड :

(a)     (b)     (c)      (d)

(1)     (iv)     (iii)    (i)      (v)

(2)     (v)     (i)      (ii)     (iii)

(3)     (i)      (ii)     (iii)    (iv)

(4)     (ii)     (iv)    (v)     (i)

ANS :  (1)   (iv)    (iii)    (i)      (v)