#NTA UGC NET/JRF D-2015 HINDI-3 (QUESTION-ANSWER)

#NTA UGC NET/JRF D-2015 HINDI-3 (QUESTION-ANSWER)

 

  1. #इनमें से कौन-सा युग्म अघोष ध्वनि है ?

                (1) ग, घ (2) ड, ढ

                (3) प, फ      (4) द, ध

 

  1. #निम्नलिखित में से रामदहिन मिश्र की कृति कौन-सी है ?

(1) विभक्ति विचार     ((2) प्रवेशिका हिन्दी व्याकरण

(3) भाषा तत्व प्रकाश  (4) हिन्दी व्याकरण

 

  1. ”#हिन्दी रीति ग्रंथों की परंपरा चिंतामणि त्रिपाठी से चली, अतः रीतिकाल का आरंभ उन्हीं से माना चाहिए।” ౼यह किस इतिहासकार का कथन है ?

(1) रामचंद्र शुक्ल (2) हज़ारीप्रसाद द्वेवेदी (2) विश्वनाथप्रसाद मिश्र (4) बच्चन सिंह

 

  1. #हिन्दी साहित्य के रीतिकाल का ‘श्रृंगार काल’ नाम निम्नलिखित में किस इतिहासकार ने रखा है ?

(1) रामचंद्र शुक्ल (2)( हज़ारीप्रसाद द्विवेदी (3) विश्वनाथ प्रसाद मिश्र (4) रामकुमार वर्मा

 

  1. #बालचंद विज्जावइ भासा

   दुहु नहि लग्गई दुज्जन हासा।

                ये काव्य पंक्तियां किसकी हैं ?

(1) स्वयंभू (2) नरपति नाल्ह (3) विद्यापति (4) मधुकर कवि

 

  1. #किस रासो काव्य की कथा का वर्णन शुक और शुकी द्वारा किया गया है ?

(1) पृथ्वीराज रासो (2) कीर्तिपताका (3) बीसलदेव रासो (4) खुमाण रासो

 

  1. #हज़ारीप्रसाद द्विवेदी के अनुसार ‘घत्ता’ शबद का व्यवहार मूलतः किस अर्थ में होता रहा है?

(1) छंद के रूप में     (2) कथा के एक अंश के रूप में

(3) छेदन के अर्थ में   (4) एक कडझ्वक के रूप में

 

  1. #संत मत के अलावा ‘शब्द’ (सबद) का प्रचलन और किस पंथ में हुआ था ?

(1) सिद्ध (2) जैन (3) नाथ पंथ (4) सखी संप्रदाय

 

  1. #कुछ नाहीं का नाँव धरि भरमा सब संसार।

साँच झूठ समझे नहीं, ना कुछ किया विचार।।

उपर्युक्त दोहा किसी कवि का है ?

(1) कबीरदास (2) रहीम (3) जायसी    (4) दादूदयाल

 

  1. निम्नलिखित में से कौन #’ब्रह्म संप्रदाय’ का प्रर्वतक है ?

(1) विष्णुस्वामी (2) निम्बकाचार्य (3) हित हरिवंश     (4) मध्वाचार्य

 

  1. #कहा करौं बैकुठहि जाय ?

   जहँ नहिं नंद, जहाँ न जसोदा, नहिं गोपी ग्वाल न गाय।

उपर्युक्त काव्य पंक्तियों किसकी हैं ?

(1) सूरदास (2) परमानंददास (3) नंददास (4) रसखान

 

  1. #निम्नलिखित में से ‘#ज्ञानदीप’ का रचनाकर कौन है ?

(1) उसमान (2) कासिमशाह (3) नूर मुहम्मद (4) शेख नबी

 

  1. #गगन हुता नहिं महि हुती हुते चंद नहिं सूर ।

ऐसे अंधकार महँ रचा मुहम्मद नूर ।।

यह दोहा जायसी की किस काव्य-कृति का है ?

(1) पद्मावत (2) अखरावट (3) आख़िरी कलाम (4) कन्हावत

 

  1. #कमलदल नैननि की उनमानि

बिसरत नहिं, सखी! मो मन तें मंद मुसकानि।

उपर्युक्त काव्य-पंक्तियों के रचनाकार हैं :

(1) नंददास (2) मीराबाई (3) रहीम     (4) रसखान

 

  1. #गोरख जगायो जोग, भगति भगायो लोग ?

यह काव्य-पंक्ति किसी की है ?

(1) गोरखनाथ (2) कबीरदास (3) तुलसीदास    (4) जायसी

 

  1. ”#हिंदू हृदय और मुसलमान हृदय आमने-सामने करके अजनबीपन मिटानेवालों में इन्हीं का नाम लेना पड़ेगा।” ౼रामचंद्र शुक्ल का उक्त कथन किस कवित के संबंध में है ?

(1) कबीरदास (2) जायसी (3) रहीम    (4) रखखान

 

  1. #हीन भएं जल मीन अधीन कहा कति मो अकुलानि समानै।

नीर सनेह को लाय कलंक निरास ह्वै कायर त्यागत प्रानै।

‘नीर सनेही’ में कौन-सा अलंकार है ?

(1) अभंग श्लेष (2) सभंग श्लेष (3) श्लेष वक्रोक्ति  (4) श्लेष और वक्रोक्ति

 

  1. #भिखारीदास ने ‘काव्य निर्णय’ में किसका विवेचन किया है ?

(1) सर्वांग-विवेचन (2) छंद-विवेचन (3) अलंकार-विवेचन (4) काव्य-भेद

 

  1. #रामचंद्र शुक्ल ने बिहारी की भाषा के बारे में क्या लिखा है ?

(1) बिहारी की भाषा चलती है।

(2) बिहारी की भाषा साहित्यिक है।

(3) बिहारी की भाषा चलती होने पर भी साहित्यिक है।

(4) बिहारी की भाषा में शब्द-वैचित्रय बहुत कम है।

 

  1. #जहाँ कलह तहँ सुख नहीं, कलह सुखन को सूल।

सबै कलह इक राज में, राज कलह को मूल ।।

इस दोहे के द्वारा किसी कवि ने अतीतकालीन वित्तवृत्ति का वर्णन किया है ?

(1) चाया हित वृन्दावनदास (2) भगवत रसिक (3) बेलि अली (4) नागरीदास

 

  1. ”#भारतेंदु हरिश्चंद्र का प्रभाव भाषा और साहित्य दोनों पर बड़ा गहरा पड़ा। उन्होंने जिस प्रकार गद्य की भाषा को परिमार्जित करके उसे बहुत चलता, मधुर और स्वच्छ रूप दिया, उसी प्रकार हिंदी साहित्य को भी नए मार्ग पर लाकर खड़ा कर दिया।” ౼यह कथन किसका है?

(1) रामचंद्र शुक्ल (2) हज़ारी प्रसाद द्विवेदी (3) नंददुलारे वाजपेयी (4) शिवदान सिंह चौहान

 

  1. ‘#क्या हिंदी नाम की कोई भाषा ही नहीं’ लेख के रचनाकार हैं :

(1) भारतेंदु हरिश्चंद्र (2) बालकृष्ण भट्ट (3) महावीर प्रसाद द्विवेदी (4) रामचंद्र शुक्ल

 

  1. ‘#सुधि मेरे आगम की जग में

सुख की सिहसरन हो अंत खिली।

उपर्युक्त पंक्तियाँ किस कवि की हैं ?

(1) मैथिलीशरण गुप्त (2) महादेवी वर्मा (3) जयशंकर प्रसाद (4) राहुल सांकृत्यायन

 

  1. ‘#देहाती दुनिया’ के लेखक हैं :

(1) रामवृक्ष वेनीपुरी (2) सुदर्शन (3) शिवपूजन सहाय (4) राहुल सांकृत्यायन

 

  1. ”#यद्यपि 1942 के जन-आंदोलन के समय इस गांव में न तो फ़ौजियों का कोई उत्पात हुआ था और न आंदोलन की लहर ही इस गाँव में पहुँचा पायी थी, किंतु जिले भर की घटनाओं की ख़बर अफ़वाहों के रूप में यहाँ तक ज़रूर पहुँची थी।’’ ౼उपर्युक्त पंक्तियाँ किस उपन्यास से हैं ?

(1) मैला आंचल (2) काल कथा (3) पीढिझ्याँ (4) इन्हीं हथियारों से

 

  1. #इनमें से कौन-सा विचारक मार्क्सवादी है ?

(1) लियो लावेंथल (2) जॉर्ज लुकाच (3) जॉक देरिदा (4) इप्पोलित तेन

 

  1. #निर्मल वर्मा का यात्रा-संस्मरण ‘चीड़ों पर चाँदनी’ आधारित है :

(1) शिमला प्रवास (2) मेघालय (3) यूरोप प्रवास (4) एशिया प्रवास

 

  1. ‘#अछूत की शिकायत’ कविता का प्रकाशन वर्ष क्या है ?

(1) 1907 ई॰ (2) 1912 ई॰ (3) 1914 ई॰  (4) 1920 ई॰

 

  1. #निम्नलिखित में से किस उपन्यास का संबंध आप्रवासी जीवन से है ?

(1) वे दिन (2) लाल पसीना (3) लेकिन दरवाजा (4) निर्वासन

 

  1. ‘#स्त्रीत्व का मानचित्र’ किसकी रचना है ?

(1) सुशीला टाकभोरे (2) सविता सिंह (3) अनामिका (4) प्रभा खेतान

 

  1. #भारतेंदु ने अपने किस नाटक को नाट्य रासक व लास्य रूपक कहा है ?

(1) विषस्य विषमौधम (2) नीलदेवी (3) अंधेरी नगरी (4) भारत दुर्दशा

 

  1. #निम्नलिखित में से किसी नाटक में जातिवाद की समस्या की उठाया गया है ?

(1) नाटक बाल भगवान (2) जलता हुआ रथ (3) कोर्ट मार्शल (4) सबसे उदास कविता

 

  1. #निम्नलिखित में से रामेश्वर प्रेम का कौन-सा नाटक बेन जॉनसन के नाटक ‘वालपोनि’ या ‘दी फॉक्स’ का हिन्दी रूपान्तर है ?

(1) राजा नंगा है (2) लोमड़ वेश (3) शस्त्र संतान       (4) कैम्प

  1. #निम्नलिखित में से किस एकांकी में संयुक्त परिवार की समस्या को उठाया गया है ?

(1) अधिकार का रक्षक (2) बहनें (3) सूखी डाली (4) तौलिए

  1. ‘#बायोग्राफिया लिटरेरिया’ का प्रकाशन वर्ष है :

(1) 1795 ई॰   (2) 1772 ई॰ (3) 1817 ई॰  (4) 1840 ई॰

 

  1. #निम्नलिखित में से डॉ॰ जॉनसन की कृति कौन-सी है ?

(1) रम्बलर (2) साइंस एंड पोइट्री (3) इल्युजन एंड रियलिटी (4) एस्थेटिक

 

  1. #निम्नलिखित में से कौन-सा समीक्षक नई आलोचना से संबंधित नहीं है ?

(1) स्पिनगार्न  (2) रोलॉबार्थ (3) क्लिंथ ब्रुक्स (4) जॉन क्रो रेन्सम

 

  1. #निम्नलिखित में से कौन-सा कथन आचार्य विश्वनाथ का नहीं है ?

(1) अखण्ड है                    (2) रसस्वप्रकाश है

(3) रस वैद्यान्तरस्पर्श शुरू है   (4) रस अपने आकार से भिन्न रूप में आस्वादित किया

 जाता है।

 

  1. ‘#ध्वन्यालोक’ किस शताब्दी का ग्रंथ है ?

(1) सातवीं शताब्दी    (2) आठवीं शताब्दी (3) नौवीं शताब्दी (4) ग्यारहवीं शताब्दी

 

  1. ”#सौन्दर्य की वस्तुगत सत्ता होती है, इसलिए शुद्ध सौन्दर्य नाम की कोई चीज़ नहीं होती।” ౼किसका कथन है ?

(1) हज़ारीप्रसाद द्विवेदी (2) रामचंद्र शुक्ल (3) रामविलास शर्मा (4) नन्दुदलारे वाजपेयी

 

  1. #रचनाकाल की दृष्टि से निम्नलिखित रचनाओं का सही क्रम है ?

(1) हंसजवाहिर, जयचंद प्रकाश, मधुमालती, मृगावती   

(2) मधुमालती, मृगावती, जयचंद प्रकाश, हंसजवाहिर

(3) मृगावती, मधुमालती, हंसजवाहिर, जयचंद प्रकाश

(4) जयचंद प्रकाश, मृगावती, मधुमालती, हंसजवाहिर

 

  1. #जन्मकाल की दृष्टि से निम्नलिखित कवियों का सही क्रम है :

(1) जगनिक, खुसरो, श्रीधर, चंदरबरदाई 

(2) खुसरो, श्रीधर, चंदरबरदाई, जगनिक

(3) जगनिक, चंदरबरदाई, खुसरो, श्रीधर

(4) श्रीधर, खुसरो, चंदरबरदाई, जगनिक

 

  1. #जन्मकाल की दृष्टि से निम्नलिखित रचनाकारों का सही क्रम है :

(1) चिंतामणि, बिहारी, घनानंद, मतिराम 

(2) बिहारी, चिंतामणि, मतिराम, घनानंद

(3) मतिराम, बिहारी, घनानंद, चिंतामणि

(4) बिहारी, घनानंद, मतिराम, चिंतामणि

 

  1. #रचनाकाल की दृष्टि से निम्नलिखित रचनाकारों का सही क्रम है :

(1) गोविन्दस्वामी, आलम, गुमानमिश्र, वैताल   

(2) वैताल, गोविन्दस्वामी, आलम, गुमानमिश्र

(3) गुमानमिश्र, आलम, वैताल, गोविन्दस्वामी

(4) आलम, वैताल, गुमानमिश्र, गोविन्दस्वामी

 

  1. ‘#हिन्दी साहित्य का इतिहास’ में रामचंद्र शुक्ल ने कृष्णभक्ति शाखा के कवियों को किस क्रम में प्रस्तुत किया है ?

(1) चतुर्भजदास, छीतस्वामी, गोविन्दस्वामी, परमानंददास

(2) गोविन्दस्वामी, छीतस्वामी, चतुर्भजदास, परमानंददास

(3) छीतस्वामी, चतुर्भजदास, परमानंददास, गोविन्दस्वामी

(4) परमानंददास, चतुर्भजदास, छीतस्वामी, गोविन्दस्वामी

 

  1. #रचनाकाल के अनुसार विष्णु प्रभाकर के उपन्यासों का सही क्रम है :

(1) अर्द्धनारीश्वर, ढलती रात, स्वप्नमयी, कोई तो

(2)  स्वप्नमयी, अर्द्धनारीश्वर, कोई तो, ढलती रात

(3) ढलती रात, स्वप्नमयी, कोई तो, अर्द्धनारीश्वर

(4) कोई तो, अर्द्धनारीश्वर, स्वप्नमयी, ढलती रात

 

  1. #कथाकारों का जन्म काल के आधार पर सही क्रम है :

(1) विष्णु प्रभाकर, धर्मवीर भारती, मन्नू भंडारी, नरेन्द्र कोहली  

(2) धर्मवीर भारती, विष्णु प्रभाकर, नरेन्द्र कोहली, मन्नू भंडारी

(3) मन्नू भंडारी, विष्णु प्रभाकर, नरेन्द्र कोहली, धर्मवीर भारती

(4) नरेन्द्र कोहली, धर्मवीर भारती, विष्णु प्रभाकर, मन्नू भंडारी

 

  1. #रचनाकाल के अनुसार उपन्यासों का सही क्रम है :

(1) सेवासदन, अधखिला फूल, नूतन ब्रह्मचारी, बूँद और समुद्र

(2) नूतन ब्रह्मचारी, अधखिला फूल, सेवासदन, बूँद और समुद्र

(3) अधखिला फूल, नूतन ब्रह्मचारी, सेवासदन, बूँद और समुद्र

(4) सेवासदन, बूँद और समुद्र, अधखिला फूल, नूतन ब्रह्मचारी

 

  1. #रचनाकाल के अनुसार कहानी-संग्रहों का सही क्रम है :

(1) एक धनी व्यक्ति का बयान, तेरे ये प्रतिरूप, भूख के तीन दिन, सतह से उठता आदमी

(2) भूख के तीन दिन, तेरे ये प्रतिरूप, सतह से उठता आदमी, एक धनी व्यक्ति का बयान

(3) तेरे ये प्रतिरूप, भूख के तीन दिन, एक धनी व्यक्ति का बयान, सतह से उठता आदमी

(4) तेरे ये प्रतिरूप, भूख के तीन दिन, सतह से उठता आदमी, एक धनी व्यक्ति का बयान

 

  1. #जयशंकर प्रसाद के काव्य ग्रंथों का प्रकाशन वर्ष के अनुसार सही अनुक्रम है :

(1) आँसू, झरना, प्रेमपथिक, लहर

(2) प्रेमपथिक, झरना, आँसू, लहर

(3) झरना, लहर, आँसू, प्रेमपथिक

(4) प्रेमपथिक, लहर, झरना, आँसू

 

  1. #निम्नलिखित काव्य ग्रंथों का प्रकाशन वर्ष के अनुसार सही अनुक्रम है :

(1) युगांत, स्वर्णधूलि, सत्यकाम, लोकायतन

(2) लोकायतन, सत्यकाम, स्वर्णधूलि, युगांत

(3) सत्यकाम, स्वर्णधूलि, युगांत, लोकायतन

(4) युगांत, स्वर्णधूलि, लोकायतन, सत्यकाम

 

  1. #प्रकाशन वर्ष के अनुसार निम्नलिखित पुस्तकों का सही अनुक्रम है :

(1) हिन्दी साहित्य का आधा इतिहास, हिन्दी साहित्य का दूसरा इतिहास, मध्यकालीन बोध का स्वरूप, हिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास

(2) मध्यकालीन बोध का स्वरूप, हिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास, हिन्दी साहित्य का आधा इतिहास, हिन्दी साहित्य का दूसरा इतिहास

(3) हिन्दी साहित्य का आधा इतिहास, हिन्दी साहित्य का दूसरा इतिहास, हिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास, मध्यकालीन बोध का स्वरूप

(4) हिन्दी साहित्य का दूसरा इतिहास, हिन्दी साहित्य का आधा इतिहास, मध्यकालीन बोध का स्वरूप, हिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास

 

  1. #कालक्रम की दृष्टि से निम्नलिखित नाटकों का सही अनुक्रम है :

(1) त्रिशंकु, आला अफसर, भूख आग है, विषवंश

(2) त्रिशंकु, विषवंश, आला अफसर, भूख आग है

(3) आला अफसर, त्रिशंकु, भूख आग है, विषवंश

(4) विषवंश, आला अफसर, त्रिशंकु, भूख आग है

 

  1. #प्रकाशन वर्ष की दृष्टि से निम्नलिखित गंथों का सही अनुक्रम है :

(1) एस्थेटिक, द सेक्रेट बुड, प्रैक्टिकल क्रिटिसिज़्म, रिवेल्युशन

(2) द सेक्रेट बुड, रिवेल्युशन, एस्थेटिक, प्रैक्टिकल क्रिटिसिज़्म

(3) प्रैक्टिकल क्रिटिसिज़्म, एस्थेटिक, द सेक्रेट बुड, रिवेल्युशन

(4) रिवेल्युशन, प्रैक्टिकल क्रिटिसिज़्म, एस्थेटिक, द सेक्रेट बुड

 

  1. #प्रकाशन वर्ष की दृष्टि से निम्नलिखित आलोचना-ग्रंथों का सही अनुक्रम है :

(1) रस मीमांसा, कालिदास की निरंकुशता, शुद्ध कविता की खोज, महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण

(2) शुद्ध कविता की खोज, कालिदास की निरंकुशता, रस मीमांसा, महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण

(3) कालिदास की निरंकुशता, रस मीमांसा, शुद्ध कविता की खोज, महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण

(4) कालिदास की निरंकुशता, रस मीमांसा, महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण, शुद्ध कविता की खोज

 

निर्देश : प्रश्न संख्या 56 से 65 तक के प्रश्नों में दो कथन दिए गए हैं । इनमें से एक स्थापना (A) और दूसरा तर्क (R) है। कोड में दिए गए विकल्पों में से सही विकल्प का चयन कीजिए ।

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #काव्येषु नाटकं रम्यम्।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #उसमें काव्य के साथ-साथ सभी ललित कलाओं का समन्वय होता है।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) ग़लत

                (3) (A) सही और (R) सही

                (4) (A) ग़लत और (R) सही

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #काव्यानुभूति का मूल आधार लोकानुभूति ही है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #केवल लोक जीवन का यथार्थ ही उसके ज्ञान और भाव-क्षेत्रों का विस्तार करता है, कल्पना नहीं।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) सही

                (3) (A)  ग़लत और (R) ग़लत

                (4) (A) सही और (R) सही

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #केवल सुन्दरता ही कविता का लक्ष्य और उसका एकमात्रा नियम है और सौन्दर्य ही अनन्तकाल तक कविता में गूँजता है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #सत्य और शिव कविता कामिनी के सौन्दर्यवर्द्धन के लिए न तो उतने उपयोगी हैं और न कालजयी।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) सही और (R) सही

                (3) (A)  ग़लत और (R) सही

                (4) (A) ग़लत और (R) ग़लत

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #आधुनिक मनुष्य को इतिहास और समय के नियमों-क़ानूनों का जितना ज्ञान है, उतना पहले किसी युग में प्राप्त नहीं था।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #मध्यकालीन संस्कृति में धर्म का जो कळंद्रीय स्थान था, उसने धीरे-धीरे पीछे हटते हुए अपनी जगह इतिहास को समर्पित कर दी।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) सही

                (3) (A)  ग़लत और (R) ग़लत

                (4) (A) सही और (R) सही

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #साहित्य सर्जना एक आधार सामूहिक आधार अचेतन को माना गया है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #कविता मूलतः सामूहिक वाचन के लिए ही होती है।

                (1) (A) सही और (R) सही

                (2) (A) सही और (R) ग़लत

                (3) (A)  ग़लत और (R) सही

                (4) (A) ग़लत और (R) ग़लत।

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #आधुनिक परंपरा का विलोम नहीं है, क्योंकि यह प्राचीन और नवीन के द्वन्द्व का परिणाम है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #आधुनिकता ने मानव-ज्ञान को निरन्तरता और नूतनता प्रदान की है, संस्कृति को गतिशीलता दी है।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) सही

                (3) (A)  सही और (R) सही

                (4) (A) ग़लत और (R) ग़लत।

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #भारतेंदु युगीन गद्य की भाषा तो खड़ी हो गई पर कविता की भाषा ब्रज ही रही।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #भातेंदु युगीन अधिकांश कवि ब्रज क्षेत्र के थे।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) सही

                (3) (A)  ग़लत और (R) ग़लत

                (4) (A) सही और (R) सही।

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #शब्द को सुनते ही संकेत के बल पर जो अर्थ साक्षात् समझ में आता है, उसे वाच्यार्थ कहते हैं। इस अर्थ को संचित करनेवाली शब्दवृत्ति अभिधावृत्ति कहलाती है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #भाषा में अर्थ-ग्रहण अभिधावृत्ति से ही होता है।

                (1) (A) ग़लत और (R) सही

                (2) (A) ग़लत और (R) ग़लत

                (3) (A)  सही और (R) ग़लत

                (4) (A) सही और (R) सही।

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #जिस जाति की सामाजिक अवस्था जैसी होती है, उसका साहित्य भी वैसा ही होता है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #जाति साहित्य का निर्णायक तत्त्व है।

                (1) (A) सही और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) ग़लत

                (3) (A)  सही और (R) सही

                (4) (A) ग़लत और (R) सही

 

  1. स्थापना (Assertion) (A) : #उत्तर आधुनिकता पूँजीवादी विकास की नई स्थिति और विश्व को नई अर्थव्यवस्था का परिणाम है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि #पूँजीवाद की नाना विकृतियों और नाना रूपों से सामाजिक साक्षात्कार ही उत्तर आधुनिकता है।

                (1) (A) ग़लत और (R) ग़लत

                (2) (A) ग़लत और (R) सही

                (3) (A)  सही और (R) सही

                (4) (A) सही और (R) ग़लत।

 

  1. निम्नलिखित #सिद्धान्तों को उनके सिद्धान्तकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                   सूची౼II

(A) #द्वैत      (i) रामानुजाचार्य

(B) #द्वैताद्वैत   (ii) वल्लभाचार्य

(C) #शुद्धाद्वैत   (iii) निम्बकाचार्य

(D) #विशिष्टाद्वैत       (iv) मध्वाचार्य (v)  शंकराचार्य

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (iii) (ii) (i) (iv)

(2)          (iv) (iii) (ii) (i)

(3)          (v) (iii) (iv) (i)

(4)          (i) (ii) (iii) (v)

 

  1. निम्नलिखित रचनाकारों को उनकी रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                                   सूची౼II

(A) चतुर्भुदास  (i) #युगलशतक

(B) मीराबाई    (ii) #अनेकार्थमंजरी

(C) श्रीभट्ट    (iii) #रागगोविन्द

(D) नंददास    (iv) #द्वादशयश

                                (v) #कृष्णगीतावली

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (i) (ii) (iv) (v)

(2)          (ii) (iii) (i) (iv)

(3)          (iii) (iv) (ii) (i)

(4)          (iv) (ii) (i) (ii)

 

  1. #निम्नलिखित ग्रंथों को उनके उनके लेखकों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                                   सूची౼II

(A) #हिततरंगिणी           (i) रहीम

(B) #सुदामाचरित           (ii) केशवदास

(C) #माधवानल कामकंदला    (iii) आलम

(D) #विज्ञानगीता            (iv) नरोत्तमदास (v) कृपाराम

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (ii) (iii) (iv) (v)

(2)          (i) (ii) (iii) (iv)

(3)          (v) (iv) (iii) (ii)

(4)          (iv) (v) (ii) (i)

 

  1. #निम्नलिखित रचनओं को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                   सूची౼II

(A) #अर्थकथानक     (i) घनानंद

(B) #काव्यकल्पद्रुम    (ii) बनारसीदास

(C) #अलकशतक            (iii) सेनापति

(D) #बारहमासा       (iv) मुबारक (v) सुन्दर

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (i) (ii) (iii) (iv)

(2)          (ii) (iii) (iv) (v)

(3)          (iii) (ii) (v) (i)

(4)          (iv) (v) (iii) (i)

 

  1. #निम्नलिखित रचनाकारों को रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                   सूची౼II

(A)  दयालदास        (i) #शरंगघर पद्धति

(B) गोरखनाथ       (ii) #उपदेशरसायनरास

(C) पुष्पदन्त         (iii) #उत्तर पुराण

(D) जिनदत्त सूरि      (iv) #विराट पुराण (v) #राठौड़ी री ख्यात

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (i) (v) (iv) (iii)

(2)          (v) (iv) (iii) (ii)

(3)          (ii) (i) (v) (iv)

(4)          (iii) (ii) (i) (v)

 

  1. #निम्नलिखित पंक्तियों को उनके कवियों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                   सूची౼II

(A) #वैश्यो! सुनो व्यापार सारा मिट चुका है देश का

सब धन विदेशी हर रहे हैं पार क्या क्लेश का?                                                 (i) जयशंकर प्रसाद

(B) #तुम भूल गए पुरुषत्व मोह में, कुछ सत्ता है नारी की।

समरसता है है संबंध बनी अधिकार और अधिकार की।            (ii) पंत

(C) #प्रथम रष्मि आना रागिणी! तू ने कüसे पहचाना?

कहाँ-कहाँ हे बाल विहंगिनी? पाया तूने यह गाना?                              (iii) महादेवी वर्मा

(D) #क्या अमारों का लोक मिलेगा तेरी करुणा का उपहार?

रहने दो हे देव! अरे यह मेरा मिटने का अधिकार!          (iv) निराला (v) मैथिलीशरण गुप्त

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (iii) (iv) (i) (v)

(2)          (i) (ii) (iii) (iv)

(3)          (iii) (v) (i) (ii)

(4)          (v) (i) (ii) (iii)

 

  1. #निम्नलिखित गंथों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                                   सूची౼II

(A)  #साहित्य का समाजशास्त्र              (i) इन्द्रनाथ मदान

(B)  #प्रगतिशील साहित्य की समस्या        (ii) केदारनाथ सिंह

(C)  #आधुनिक हिन्दी कविता में विम्ब विधान       (iii) अज्ञेय

(D)  #अद्यतन                                 (iv) नगेन्द्र (v) रामविलास शर्मा

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (i) (ii) (iii) (iv)

(2)          (iv) (v) (ii) (iii)

(3)          (iii) (i) (iv) (v)

(4)          (ii) (v) (iii) (iv)

 

  1. #निम्नलिखित रचनाओं को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                                   सूची౼II

(A) #छप्पर                (i) मोहनदास नैमिशराय

(B) #शिकंजे का दर्द        (ii) आमप्रकाश वाल्मीकि

(C) #अपने अपने पिंजरे (iii) माताप्रसाद

(D) #झोंपड़ी से राजभवन      (iv) सुशीला टाकभोरे (v) जयप्रकाश कर्दम

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (i) (ii) (iv) (v)

(2)          (iii) (i) (v) (ii)

(3)          (v) (iv) (i) (iii)

(4)          (ii) (i) (v) (iii)

 

  1. #निम्नलिखित कहानियों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची౼I                   सूची౼II

(A) #यारों के यार                 (i) दूधनाथ सिंह

(B) #मछली मरी हुई              (ii) शेखर जोशी

(C) #सपाट चेहरे वाला आदमी        (iii) कृष्णा सोबती

(D) #कोसी का घटवार              (iv) भीष्म साहनी (v) राजकलम चौधरी

कूट :

                (A) (B) (C) (D)

(1)          (iii) (v) (i) (ii)

(2)          (ii) (i) (iii) (iv)

(3)          (iv) (iii) (v) (ii)

(4)          (ii) (v) (iii) (iv)

 

  1. #निम्नलिखित संवाद पंक्तियों को उनके नाटकों के साथ सुमेलित कीजिए :

                सूची         सूची౼II

(A) #मैंने भावना में भावना का वरण किया है। (i) चन्द्रगुप्त

(B) #अधिकार सुख कितना मादक और सारहीन है।   (ii) लहरों का राजहंस

(C) #समझदारी आने पर यौवन चला जाता है, जब तक माला गूंथी जाती है, फूल कुम्हला जाते हैं।                                        (iii) आषाढ़ का एक दिन

(D) #नारी का आकर्षण पुरुष को पुरुष बनाता है और उसका अपकर्षण उसे गौतम बुद्ध।                                                (iv) कोमल गांधार (v) स्कन्दगुप्त

कूट :

                (a) (b) (c) (d)

(1)          (ii) (iii) (v) (i)

(2)          (iii) (v) (i) (ii)

(3)          (iii) (v) (ii) (i)

(4)          (iv) (iii) (ii) (i)

 

D-15 HINDI-3  (ANSWER KEY) 

1. (A) 02. (D) 03. (B) 04. (B)  05. (A)  06. (D) 07. (C)  08. (B) 9. (D) 10. (C)  11. (D) 12. (C) 13. (B)       14. (A)  15. (A)  16. (D) 17. (A)  18. (C) 19. (C) 20. (D) 21. (B)  22. (B) 23. (D) 24. (C)  25. (A) 26. (A)     27. (C)  28. (A)  29. (A) 30. (C) 31. (C) 32. (B) 33. (D) 34. (A) 35. (A) 36. (A)  37. (D)  38. (B) 39. (A)       40. (A)  41. (B) 42. (C)  43. (A)  44. (C)       45. (B) 46. (D) 47. (A) 48. (Z)  49. (B)  50. (D) 51. (A)  52. (C)     53. (B)  54. (A) 55 C 56. (C)  57. (A)  58. (C) 59. (C) 60. (A) 61. (C)  62. (B) 63. (A) 64. (A) 65. (C) 66. (A)  67. (B) 68. (D)  69. (C)  70. (B)  71. (A) 72. (C)   73. (D) 74. (A)  75. (C)