हिंदी भाषा और साहित्य तथा भारतीय काव्यशास्त्र एवं पाश्चात्य काव्यशास्त्र पर उत्कृष्ट अध्ययन-सामग्री, UPSC/NTA/UGCNET/JRF/SET/BPSC/PGT/M. ED./B. ED. एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए।

पं. चंद्रधर शर्मा गुलेरी : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

पं. चंद्रधर शर्मा गुलेरी : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में इनका जन्म जयपुर में एक विख्यात पंडित घराने में 25 आषाढ़ संवत् 1940 में हुआ...

Continue reading...

भिखारीदास (Bhikharidas): आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

भिखारीदास (Bhikharidas): आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में दास (भिखारी दास) : ये प्रतापगढ़ (अवध) के पास टयोंगा गाँव के रहने वाले श्रीवास्तव कायस्थ थे। इन्होंने...

Continue reading...

भिखारादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

भिखारादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में दास (भिखारी दास) : ये प्रतापगढ़ (अवध) के पास टयोंगा गाँव के रहने वाले श्रीवास्तव कायस्थ थे। इन्होंने...

Continue reading...

नाभादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

नाभादास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में नाभादास जी अग्रदास जी के शिष्य, बड़े भक्त और साधुसेवी थे। संवत् 1657 के लगभग वर्तमान थे और...

Continue reading...

नामदेव : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

नामदेव आचार्य : रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में महाराष्ट्र देश के प्रसिद्ध भक्त नामदेव (संवत् 1328-1408) ने हिंदू मुसलमान दोनों के लिए एक सामान्य भक्तिमार्ग का...

Continue reading...

नंददास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में

नंददास : आचार्य रामचंद्र शुक्ल की दृष्टि में ‘अष्टछाप’ के आठ कवि हैं : सूरदास, कुंभनदास, परमानंददास, कृष्णदास, छीतस्वामी, गोविंदस्वामी, चतुर्भुजदास और नंददास। (हिंदी साहित्य का...

Continue reading...