भगवतीचरण वर्मा की रचनाएं

भगवतीचरण वर्मा की रचनाएं/BHAGWATICHARAN VARMA KI RACHNAYEN

उपन्यास/NOVELS BY BHAGWATICHARAN VARMA

पतन (1927 ई.), चित्रलेखा (1934 ई.), तीन वर्ष (1936 ई.), टेढ़े-मेढ़े रास्ते (1946 ई.), आख़िरी दाँव (1950 ई.),अपने खिलौने (1957 ई.), भूले-बिसरे चित्र (1959 ई.), वह फिर नहीं आई (1960 ई.), सामर्थ्य और सीमा (1962 ई.), थके पाँव (1963 ई.), रेखा (1964 ई.), सीधी-सच्ची बातें (1968 ई.), सबहिं नचावत राम गोसाईं (1970 ई.), प्रश्न और मरीचिका (1973 ई.), युवराज चूण्डा (1978 ई.), धुप्पल (1981 ई.), चाणक्य (1982 ई.)।

कहानी/SHORT STORIES BY BHAGWATICHARAN VARMA

सौदा हाथ से निकल गया, संकट, समझौता, गनेसीलाल का रामराज, दो बाँके, उत्तमी की माँ, प्रायश्चित, मुग़लों ने सल्तनत बख़्श दी, वो दुनिया।

संस्मरण

अतीत के गर्त से (15 संस्मरणों में से एक बाबू राजेन्द्र प्रसाद से संबंधित)

आत्मकथा

कहि न जाय का कहिए (2001 ई., कहि न जाय का कहिए, संघर्ष और दिशाहीनता, ददुआ हम पै विपदा–तीन खंडों में) ।

#’भूले-बिसरे चित्र’ उपन्यास के रचनाकार हैं :

(1) चतुरसेन (2) भगवतीचरण वर्मा

(3) भगवतीशरण वाजपेयी (4) भीष्म साहनी

#’अतीत के गर्त से’ संस्मरण के लेखक हैं :

(1) निम्नलिखित में से किस उपन्यास में प्रागैतिहासिक जातियों के जीवन एवं संस्कृति का का काल्पनिक चित्रण प्रस्तुत किया गया है?

(1) जय यौद्धेय (2) मुर्दो का टीला

(3) वयं रक्षामः (4) टेढ़े-मेढ़े रास्ते

Ans : (3) वयं रक्षामः

#निम्नलिखित उपन्यासों और उपन्यासकारों का सही अनुक्रम है :

(A)  सिंह सेनापति (i) भगवतीचरण वर्मा

(B) सोना और ख़ून (ii) रांगेय राघव (C) कब तक पुकारूँ (iii) चतुरसेन शास्त्री (D) पतन (iv) राहुल सांकृत्यायन (v) अज्ञेय

ANS : (A) सिंह सेनापति (iv) राहुल सांकृत्यायन (B) सोना और ख़ून (iii) चतुरसेन शास्त्री (iii) कब तक पुकारूँ (ii) रांगेय राघव (D) पतन (i) भगवतीचरण वर्मा

#भगवतीचरण वर्मा के किस उपन्यास में विश्वविद्यालयीय जीवन का चित्रण है?

(1) चित्रलेखा (2) तीन वर्ष

(3) धुप्पल (4) चाणक्य

ANS : (2) तीन वर्ष

#भगवतीचरण वर्मा के किस उपन्यास को साहित्य अकादमी पुरस्कार (1 961 ई.) प्राप्त हुआ था?

(1) चित्रलेखा (2) टेढ़े-मेढ़े रास्ते

(3) भूले-बिसरे चित्र (4) चाणक्य

ANS : भूले-बिसरे चित्र

#भगवतीचरण वर्मा ने अपने किस उपन्यास की रचना फ्रांस के अनातोले के प्रसिद्ध ग्रंथ थाया के आधार पर मौलिक ढंग से की है?

(1) सबहिं नचावत राम गोसाईं (2) सीधी सच्ची बातें (3) टेढ़े-मेढ़े रास्ते (4) चित्रलेखा

ANS : (4) चित्रलेखा

#पाप और पुण्य के चिरंतन नैतिक प्रश्न को प्रस्तुत करने वाला उपन्यास कौन-सा है?

(1) चित्रलेखा (2) सामर्थ्य और सीमा (3) तीन वर्ष (4) रेखा

ANS : चित्रलेखा

#भगवतीचरण वर्मा के व्यक्तिगत जीवन संदर्भों को चित्रित करनेवाला उपन्यास है :

(1) सीधी-सच्ची बातें (2) धुप्पल (3) सामर्थ्य और सीमा (4) अपने खिलौने

Ans : (2) धुप्पल

भगवतीचरण वर्मा के किस उपन्यास में गांधीवाद, आतंकवाद और साम्राज्यवाद तीनों का चित्रण है?

(1) भूले-बिसरे चित्र (2) टेढ़े-मेढ़े रास्ते (3) सबहिं नचावत राम गोसाईं (4) चाणक्य

ANS : (2) टेढ़े-मेढ़े रास्ते

एक जुआरी के असफल प्रेम को कथानक बनाकर लिखा गया उपन्यास है :

(1) फिर वह नहीं आई (2) भूले-बिसरे चित्र (3) आख़िरी दाँव (4) अपने खिलौने

ANS : (3) आख़िरी दाँव

भगवतीचरण वर्मा का प्रथम उपन्यास है :

(1) भूले-बिसरे चित्र (2) पतन (3) (4)