अन्य सामग्रियां

Hindi Exams Material
परीक्षोपयोगी विविध सामग्रियां

संस्कृत एवं हिंदी के अलंकारवादी आचार्य

संस्कृत एवं हिंदी के अलंकारवादी आचार्य   #भामह #दंडी #उद्भट #रुद्रट #भोज #केशव मिश्र #जयदेव #अप्यप दीक्षित #केशवदास #चिंतामणि #कुलपति #देव #सुरति मिश्र #कुमारमणि #श्रीपति #सोमनाथ...

Continue reading...

पाश्चात्य काव्यशास्त्रीय वाद/सिद्धांत और उनके प्रवर्तक

Hindi Sahiya Vimarsh हिन्दी भाषा और साहित्य तथा भारतीय एवं पाश्चात्य काव्यशास्त्र पर परीक्षोपयोगी सामग्री के साथ ही विभिन्न भाषाओं के साहित्य के विविध आयामों पर...

Continue reading...

स्थायी भाव की संख्या

स्थायी भाव की संख्या भरतमुनि ने स्थायी भाव की संख्या आठ मानी थी— रति, हास, शोक, क्रोध, उत्साह, भय, जुगुप्सा और विस्मय। बाद में संस्कृत के...

Continue reading...

जयशंकर #प्रसाद की कहानियाँ

जयशंकर #प्रसाद की कहानियाँ प्रेमचंद युग के प्रसाद स्कूल के प्रमुख हस्ताक्षर जयशंकर प्रसाद की कहानियां भारतीय संस्कृति, इतिहास और मानवता का सुंदर दस्तावेज है। प्रसाद...

Continue reading...

 #हिंदी-साहित्यकारों का #जीवन-काल (#वर्णक्रमानुसार)-3

 #हिंदी-साहित्यकारों का #जीवन-काल (#वर्णक्रमानुसार)-3   #यशपाल (1903-1976 ई.) #रंजीत (1937 ई.) रघुराज सिंह रीवा नरेश 1823-1879 ई.) #रघुवंश (1999 ई.) #रघुवीर सहाय (1922-1992 ई.) #रजनी गुप्त...

Continue reading...